Doeacc CCC Certificate Computer Course

Doeacc CCC Certificate Computer Course-ssccurrentaffairs.com

Doeacc CCC Certificate Computer Course :-  Dear aspriant अज हम आपके के लिए ज्ञान की बहुत ख़ास pdf लेकर आये हैं जो कि  Doeacc CCC Certificate Computer Course or लगभग हर प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछा जाता है, इसलिए Computer ज्ञान का अध्ययन बहुत आवश्यक हो गया है और इसलिए हम आपके लिए हमेशा की तरह आज भी हम new study materials upload की हैं Doeacc CCC Certificate Computer Course लेकर आये हैं ये notes Doeacc CCC Certificate Computer Course बहुत इम्पोर्टेन्ट है और आपको सबको पता ही है Computer knowledge विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे SSC, CGL, Railway, Police, Highcourt, और अलग कई प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहुत ही लाभदायक और important है| आप सभी इसका PDF नीचे दिए हुए download बटन पर क्लिक करके बहुत ही आसानी से download कर सकते हो |

सम्पूर्ण Computer  जानकारी — Click Here

Free Computer Courses

सीसीसी की FullForm है कोर्स ऑन कम्प्यूटर कॉन्सेप्ट (Course on Computer Concepts) विभिन्न सरकारी नौकरियों में Nielit (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी) ने सीसीसी (कोर्स ऑन कम्प्यूटर कॉन्सेप्ट्स) सर्टिफिकेट को अनिवार्य कर दिया है ऐसे में लाखों लोग कम्प्यूटर सीखना चाहते है और सीसीसी कोर्स करना चाहते हैं तो आईये जानते हैं What is CCC Computer Course – सीसीसी कंप्‍यूटर कोर्स क्‍या है -d

Doeacc CCC Certificate Computer Course LIVE देखे

सम्पूर्ण Computer  जानकारी — Killer Computer Study Strategy

नीचे आपको Doeacc CCC Certificate Computer Course किये जा रहे है नीचे आपको pdf download करने से पहले या बिना download किये LIVE WATCH देखने का option दिया जा रहा है उसके नीचे download pdf बटन भी दिया गया है जिसमे click कर आप आसानी से अपनी Doeacc CCC Certificate Computer Course को download कर सकते है|

CCC Computer Course in Hindi (CCC Notes in Hindi)

सीसीसी कोर्स राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान द्वारा चलाया जाता है जिसे नाइलिट के नाम से भी जाना जाता है, NIELIT के द्वारा सीसीसी परीक्षा और बीसीसी परीक्षा पूरे वर्ष हर माह आयोजित कराई जाती है, सीसीसी को कम्प्यूटर अवधारणा पाठ्यक्रम और बीसीसी को मूलभूत कम्प्यूटर पाठ्यक्रम कहा जाता है, NIELIT से पहले सीसीसी कोर्स और बीसीसी कोर्स DOEACC द्वारा करायेे जाते थेे लेकिन अब सीसीसी कोर्स नाइलिट द्वारा आयो‍जित कराये जाते हैं सीसीसी कोर्स को करने से आपको Computer की बेसिक जानकारी हो जायेगी जो किसी भी सरकारी और प्राइवेट नौकरी के लिये जरूरी होती है

CCC Certificate कैसे करें

निम्नलिखित राज्यों ने राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में भर्ती तथा पदोन्नति के प्रयोजन से ‘सीसीसी’ पाठ्यक्रम को मान्यता प्रदान की है।
गुजरात
महाराष्ट्र
उत्तर प्रदेश
अरुणाचल प्रदेश

शैक्षिक योग्‍यता – किसी शैक्षिक योग्यता पर ध्यान नहीं दिया जाएगा
परीक्षा फीस – Rs.500.00 + Service tax
परीक्षा समय – हर माह के प्रथम शनिवार को आयोजित होती है
परीक्षा स्‍थल – नाइलिट द्वारा विशेष रूप से प्राधिकृत स्थानों द्वारा
कोर्स की अवधि – 80 घंटे

CCC कोर्स को आप 2 तरह से कर सकते है पहला ऐसे संस्थानों द्वारा जिन्हें सीसीसी पाठ्यक्रम चलाने के लिए नाइलिट द्वारा विशेष रूप से प्राधिकृत किया गया है। इस संस्थानों द्वारा सीसीसी परीक्षा का आयोजन नाइलिट (पूर्व में डीओईएसीसी सोसायटी) द्वारा निर्धारित कैलेण्डर के अनुसार किया जाता है, यह परीक्षा हर माह के प्रथम शनिवार को इन संस्थानों पर आयोजित कराई जाती है

दूसरा तरीका है कि आप स्‍वंय तैयारी करें और अपने घर पर ऑनलाइन परीक्षा दें .इसके लिए आपको CCC की वेबसाइट student.nielit.gov.in पर जाना होगा और CCC कोर्स के एग्जाम के लिए Ccc Course Online Registration कराना होगा और स्वयं अध्ययन के आधार पर कोर्स का ऑनलाइन एग्जाम देना होगा

CCC Course Syllabus

कम्प्यूटर का परिचय (Introduction To Computer)
जीयूआई आधारित ऑपरेटिंग सिस्‍टम परिचय (Introduction To GUI Operating System)
शब्द संसाधन के तत्व (Elements of word processing)
स्प्रेडशीट (Spreadsheets)
कम्प्यूटर संचार एवं इंटरनेट (Computer communication and internet)
WWW तथा वेब ब्राउज़र (WWW and web browser)
संचार एवं सहयोग (Communication and cooperation)
छोटे प्रस्तुतीकरण का निर्माण (Creation of small presentations)
परीक्षा देने के बाद आप परिणाम डाउनलोड करने के लिए student.nielit.gov.in पर जा सकते हैं, साथ ही आपको डिजिटल रूप में हस्ताक्षरित प्रमाण-पत्र भी दिया जायेगा जिसे डाउनलोड करने के लिए विद्यार्थी http://www.nielit.gov.in/certificate/ पर जा सकते हैं

Computer Generation Basic Computer Course

आज आप कंप्यूटर पर इंटरनेट चलाते हैँ, गेम खेलते है, वीडियो देखते हैं, गाने सुनते हैँ और इसके अलावा ढेर सारे ऑफिस से संबंधित काम करते हैं आज कंप्यूटर का उपयोग दुनिया के हर क्षेत्र मेँ किया जा रहा है चाहे वो शिक्षा जगत हो, फिल्म जगत हो या आपका ऑफिस हो। कोई भी जगह कंप्यूटर के बिना अधूरी है आज आप कंप्यूटर की सहायता से इंटरनेट पर दुनिया के किसी भी शहर की कोई भी जानकारी सेकेण्‍डों मे प्राप्त कर सकते हैँ ये किसी दूसरे देश मेँ बैठे अपने मित्रोँ और रिश्तेदारोँ से इंटरनेट के माध्यम लाइव वीडियो कॉंफ्रेंसिंग कर सकते हैँ यह सब संभव हुआ है कंप्यूटर की वजह से। सोचिए अगर कंप्यूटर ना होता तो आज की दुनिया कैसी दिखाई देती।

कंप्यूटर शुरुआत कहाँ से हुई ओर क्यूँ हुई ? क्या वाकई मेँ कंप्यूटर इन सभी कामाें को करने के लिये बना था या इसका आविष्कार किसी और वजह से हुआ था आइए जानते हैँ –

मानव के लिए गणना करना शुरु से ही कठिन रहा है मनुष्य बिना किसी मशीन के एक सीमित स्तर तक ही गणना या केलकुलेशन कर सकता है ज्यादा बडी कैलकुलेशन करने के लिए मनुष्य को मशीन पर ही निर्भर रहना पड़ता है इसी जरुरत को पूरा करने के लिए मनुष्य ने कंप्यूटर का निर्माण किया, यानी गणना करने के लिए।

CCC Exam Cracker PDF — Click Here

Online Computer Courses

Abacus Computer – 3000 वर्ष पूूूूर्व
अबेकस का निर्माण लगभग 3000 वर्ष पूर्व चीन के वैज्ञानिकोँ ने किया था। एक आयताकार फ्रेम में लोहे की छड़ोँ में लकडी की गोलियाँ लगी रहती थी जिनको ऊपर नीचे करके गणना या केलकुलेशन की जाती थी। यानी यह बिना बिजली के चलने वाला पहला कंप्यूटर था वास्तव मेँ यह काम करने के लिए आपके हाथो पर ही निर्भर था।

Antikythera Mechanism- 2000 वर्ष पूर्व
Antikythera असल में एक खगोलीय कैलकुलेटर था जिसका प्रयोग प्राचीन यूनान में सौर और चंद्र ग्रहणों को ट्रैक करने के लिए किया जाता था, एंटीकाईथेरा यंञ लगभग 2000 साल पुराना है, वैज्ञानिको को यह यंञ 1901 में एंटीकाइथेरा द्वीप पर पूरी तरह से नष्‍ट हो चुके जहाज से जीर्ण-क्षीर्ण अवस्था में प्राप्‍त हुआ था, इसी कारण इसका नाम एंटीकाईथेरा सिस्‍टम पडा तभी से वैज्ञानिक इसे डिकोड करने में लगे थे और लंबे अध्ययन के बाद अब इस कंप्यूटर को डिकोड कर लिया गया है। यह मशीन ग्रहों के साथ ही आकाश में सूर्य और चांद की स्थिति दिखाने का काम करती है। एंटीकाईथेरा तंत्र ने आधुनिक युग का पहला ज्ञात एनलोग कंप्यूटर होने का श्रेय प्राप्त कर लिया, यूनानी ने एंटीकाईथेरा सिस्टम को खगोलीय और गणितीय आकड़ो का सही अनुमान लगाने के लिए विकसित किया गया था

Computer Courses

Pascaline पास्‍कलाइन – सन् 1642
अबेकस के बाद निर्माण हुआ पास्‍कलाइन का। इसे गणित के विशेषज्ञ ब्लेज पास्कल ने सन् 1642 में बनाया यह अबेकस से अधिक गति से गणना करता था। ये पहला मैकेनिकल कैलकुलेटर था। इसे मशीन को एंडिंग मशीन (Adding Machine) कहा जाता था, Blase Pascal की इस Adding Machine को Pascaline भी कहते हैं

Difference Engine (डिफरेंज इंजन) – सन् 1822
डिफरेंस इंजन सर चार्ल्स बैबेज द्वारा बनाया एेसा यंत्र था जो सटीक तरीके से गणनायें कर सकता था, इसका आविष्कार सन 1822 में किया गया था, इसमें प्रोग्राम स्टोरेज के लिए के पंच कार्ड का इस्‍तेमाल किया जाता था। यह भाप से चलता था, इसके आधार ही आज के कंप्यूटर बनाये जा रहे हैं इसलिए चार्ल्स बैवेज को कंप्यूटर का जनक कहते हैँ।

Zuse-Z जुसे जेड – 3 – सन् 1941
महान वैज्ञानिक “कोनार्ड जुसे” नें “Zuse-Z3” नमक एक अदभुत यंत्र का आविष्कार किया जो कि द्वि-आधारी अंकगणित की गणनाओ (Binary Arithmetic) को एवं चल बिन्दु अंकगणित गणनाओ (Floating point Arithmetic) पर आधारित सर्वप्रथम Electronic Computer था।

ENIAC अनिएक – सन् 1946
अमेरिका की एक Military Research room ने “ENIAC” मशीन जिसका अर्थ (Electronic Numerical Integrator And Computer) का निर्माण किया। “ENIAC” दशमलव अंकगणितीय प्रणाली (Decimal Arithmetic system ) पर कार्य करता था, बाद मेें “ENIAC” सर्वप्रथम कंप्यूटर के रूप में प्रसिद्ध हुई जो कि आगे चलकर आधुनिक कंप्यूटर के रूप में विकसित हुई

SSEM (मैनचेस्टर स्‍माल स्‍केल मशीन) – सन् 1948
(SSEM) पहला ऐसा कंंम्‍यूटर था जो किसी भी प्राेग्राम को वैक्यूम ट्यूब (Vacume Tube) में सुरक्षित रख सकता था, इसका निक नेम Baby रखा गया था, इसे बनाया था फ्रेडरिक विलियम्स और टॉम किलबर्न ने|

Doeacc CCC Certificate Computer Course विवेचना

Computer Color Detection रंगों की पहचान के मामले में
जहॉ तक रंगों में अंतर करने की बात है तो मनुष्‍य की ऑख लगभग १ करोड रंगों में अंतर कर लेती है, लेकिन एक ३२ बिट का कम्‍प्‍यूटर १ करोड ६० लाख रंगों में अंतर कर पाता है।

Computer Calculation गणना करने में
मनुष्‍य का इस मामले में कम्‍प्‍यूटर से पीछे हैं, जीहॉ मनुष्‍य का दिमाग २ या ३ अंकों की गणना बडे आराम से कर लेता है, लेकिन अगर यही गणना १० या १२ अंकों की हो तो बहुत अधिक समय लगता है और यदि इसे और बडा कर दिया जाये तो आपको लगभग सारा दिन लग जायेगा, लेकिन कम्‍प्‍यूटर इसे कुछ ही सेकेण्‍ड में हल कर देता है। जैसे कि आपका कैलक्‍यूलेटर

Face Detection चेहरे पहचाने में
कम्‍प्‍यूटर फेस रिकग्निशन तकनीक के माध्‍यम से चेहरे को पहचानने का काम करता है, जिसमें वह चेहरे के कुछ हिस्‍सों को पांइट करता है, जिससे वह बडे आराम से किसी का भी चेहरा पहचान लेता है, अब यही तकनीक फेसबुक सोशल नेटवर्किग साइट भी यूज कर रही है, लेकिन इंसानी दिमाग इससे भी आगे है, पूरी दुनिया में अरबों लोग रहते हैं और सभी के चेहरे अलग-अलग होते हैं, इंसानी दिमाग इन सभी के चेहरों में अंतर बडे आराम से लेता है, यहॉ तक वह कि वह केवल ऑखों को देखकर ही व्‍यक्ति की पहचान कर सकता है और यही नहीं अगर दो चेहरों को मिलाकर एक नया चेहरा बना दिया जाये, जैसा कि अक्‍सर न्‍यूज पेपर में आपने देखा होगा, दिमाग उन दोनों चेहरों में अंतर कर उनको भी पहचान लेता है।

Things Identified वस्‍तुओं की पहचान
आपका दिमाग केवल देखने भर से नमक और चीनी में अंतर कर सकता है, इसके अलावा और भी रोजमर्रा काम आने वाली चीजों के बीच अंतर करने में इंसानी दिमाग माहिर है। हॉलांकि अब गूगल ग्‍लास, जैसी एप्‍लीकेशन हैं जो इमेज स्‍कैन करते चीजों को पहचान सकती है, लेकिन सटीकता से नहीं।

Decision निर्णय लेने की क्षमता
यहॉ भी इंसानी दिमाग का कोई जबाव नहीं है, आप पल भर में कोई भी निर्णय ले सकते है, जहॉ पर कम्‍प्‍यूटर भी फेल हो जाते हैं, वहॉ इंसानी दिमाग ही विजय प्राप्‍त करता है, जैसे ड्राइविंग करते समय, कोई खेल खेलते समय, (शतरंज, क्रिकेट, बैडमिटंन आदि) और यहॉ तक कि फाइटर प्‍लेन के पायलट तो इससे भी तेज निर्णय लेने के लिये जाने जाते हैं, यहॉ कम्‍प्‍यूटर इंसानी दिमाग से काफी पीछे है।

Computer Machine Controing किसी मशीन को कन्‍ट्रोल के मामले में
जी हॉ कम्‍प्‍यूटर चाहे किनता कि शक्तिशाली और तेज क्‍यों ना हो, है तो एक मशीन ही और मनुष्‍य के दिमाग का इस इस मामले में भी कोई जबाब नहीं है, फिर चाहे वह घरेलू कम्‍प्‍यूटर हो या किसी स्‍पेसशिप का कन्‍ट्रोल सिस्‍टम, मनुष्‍य का दिमाग सभी को समझ लेता है और ऑपरेट कर लेता है। एक उदाहरण के लिये यदि एक टाइपिस्‍ट जब की-बोर्ड पर टाइपिंग करता है तो वह की-बोर्ड की तरफ देखता भी नहीं है, तो फिर वह बिलकुल सटीक अक्षर कैसे टाइप कर पाता है, यह कमाल भी दिमाग का है, जब आप टाइपिंग का अभ्‍यास करते है, तो दिमाग आपको उॅगलियों से दबने वाले बटन और दूसरे बटनों के दूरी और अक्षर को याद कर लेता है और यही नहीं आप काफी तेजी से टाइप भी कर पाते हैं।

Practical प्रैक्टिकल के मामले में
आपको बता दें कि कम्‍प्‍यूटर केवल वही कार्य कर सकता है जिसके लिये उसे प्रोग्राम किया गया हो, लेकिन अगर उसे अलग कोई काम करना हो तो कम्‍प्‍यूटर उसे नहीं कर पता है, लेकिन इन्‍सानी दिमाग प्रैक्टिकल होता है, वह किसी भी कार्य को करने के लिये कोई ना कोई रास्‍ता खोज ही लेता है, जिसे आप हिंदी भाषा में जुगाड भी कहते हैं, यह अद्वितीय क्षमता केवल और केवल मनुष्‍य के पास ही है।

निरंतर कार्य करने की क्षमता
हमने बहुत जगह पढा है कि कम्‍प्‍यूटर कभी थकता नहीं है, वह निरंतर कार्य करता रह सकता है और इंसानी दिमाग थक जाता है उसे सोने की आवश्‍यकता होती है। हमने अभी तक कोई ऐसा रोबोट या मशीन नहीं देखी जो बिजली या बैट्ररी के बगैर चल सके या उसे चार्जिग की आवश्‍कता न हो। ऐसा ही मनुष्‍य के दिमाग और शरीर के साथ है, सोते समय भी मनुष्‍य का दिमाग कार्य करता रहता है, जब आप सो रहे होते हैं तक भी आपके मन में विचार आते रहते है, आप सपने देखते रहते हैं और बात रही थकने की तो कम्‍प्‍यूटर में भी हैंग होने की बीमारी होती है।

Storage संग्रह क्षमता
कम्‍प्‍यूटर में आप दुनिया भर के गाने, वीडियो और संग्रहित कर रख सकते हैं, यह क्षमता मनुष्‍य के दिमाग के पास भी होती है, वह आस-पास होने वाली घटनाओं को रिकार्ड करता रहता है, लेकिन गैर जरूरी घटनाये समय से साथ अपने आप डिलीट होती चलती है, जबकि कम्‍प्‍यूटर में आपको इसके लिये स्‍वंय भी उन फाइलों को डिलीट करना पडता है, लेकिन हॉ संग्रह क्षमता में फिर भी कम्‍प्‍यूटर ही आगे है।

Doeacc CCC Certificate Computer Course अंंत में
इंसानी दिमाग और इंसानी शरीर मिलकर कई सारे काम कर सकते हैं, जो अकेला कम्‍प्‍यूटर कभी नहीं कर सकता है, आप नोट गिन सकते हैं, आप ड्राइव भी कर सकते हैं, आप पढ भी सकते हैं, आप खाना भी पका सकते हैं, आप कैक्‍यूलेशन भी कर सकते हैं, आप कम्‍प्‍यूटर भी चला सकते हैं, जरा सोचिये कम्‍प्‍यूटर को आपने यानि मनुष्‍य ने बनाया है तो फिर वह मनुष्‍य से श्रेष्‍ठ कैसे हो सकता है, हॉ वह एक अच्‍छी मशीन भले ही हो लेकिन एक अच्‍छा इंसान नहीं बन सकता है, यह केवल मशीन है इसे मशीन ही मानिये तथा इसकी मदद से श्रेष्‍ठ कार्य कीजिये और और देश का नाम गर्व से उॅचा कीजिये।

CCC Computer Book LIVE देखे

नीचे आपको Doeacc CCC Certificate Computer Course किये जा रहे है नीचे आपको pdf download करने से पहले या बिना download किये LIVE WATCH देखने का option दिया जा रहा है उसके नीचे download pdf बटन भी दिया गया है जिसमे click कर आप आसानी से अपनी Doeacc CCC Certificate Computer Course को download कर सकते है|

आप सभी को यह पोस्ट Doeacc CCC Certificate Computer Course कैसा लगा यदि आपको अच्छा लगा और आप इसी तरह के और बुक प्रश्न चाहते है |और किसी exam के पेपर भी | तो  आप हमें निचे दिए  COMMENT  में बता सकते Doeacc CCC Certificate Computer Course है

जो जो छात्र हमारे साथ पहली बार जुड़े है | उनकी जानकारी के लिए बता दे तो ssccurrentaffairs  प्रतियोगी परीछा के हिन्दी माध्यम के छात्रों को उनके जरूरत के हिसाब से NOTES | PDF | PREVIOUS YEAR PAPER | करती है |ssccurrentaffairs  के साथ हजारो छात्र जुड़े हुए है | क्युकी उन्हें यहाँ हर दिन कुछ न कुछ नया स्टडी से Related मिलता रहता है

Article Must Read:-

अगर आपको ये Doeacc CCC Certificate Computer Course अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों में share करे जिससे उनका भी कुछ help हो सकते|

जरुर पढ़ें:- दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook group से और Whatsapp group भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

Disclaimer: ssccurrentaffairs.com does not claim this book, neither made nor examined. We simply give the connection effectively accessible on the web. In the event that anyway it abuses the law or has any issues then sympathetically mail us.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *